Health Tips: Eating Raw These Foods Makes You Healthy

अच्‍छी सेहत के लिए भोजन में कच्‍चे आहार शमिल करें. कई कच्चे आहार भोजन को अच्छे से पचाने में सहायता करते हैं. आइए जानते है इनके फायदे.


जब भी हम स्वस्थ रहने की बात करते हैं तो हमारा आहार इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. स्वस्थ रहने के लिए हम क्या खाते हैं, इस पर ध्यान देना जरुरी है लेकिन यह भी जरुरी है कि हम कैसे खा रहे हैं. विशेषज्ञों का मानना है कि फूड प्रोसेसिंग करने से जैसे, खाने को पकाना, ब्लैंड करना या मैश करना भोजन के पोषण पर असर पड़ता है. कुछ खाद्य पदार्थ ऐसे हैं जिन्हें पकाने पर उनके पोषक तत्व खत्म हो जाते हैं या इन्हें पकाने पर ये टॉक्सिक हो जाते हैं. जो पाचन तंत्र के कमजोर होने का सबसे बड़ा कारण है. इसलिए बेहतर हैं कि आप इन खाद्य पदार्थों को कच्चा ही खाएं. इससे आप कम कैलोरी खाने से बचते हैं और आपको आहारा का सारा पोषण मिलता है.


अधिक पोषण के लिए कच्चा खाएं इन फूड्स को-


कच्ची प्याज


कच्चे प्याज का सेवन अधिक लाभकारी होता है. प्याज में सल्फर कंपाउंड्स और एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं. कच्चे प्याज का सेवन करने से आपके फेफड़ों का स्वास्थ्य बेहतर होता है और दांत भी स्वस्थ रहते हैं.


कच्चा लहसुन


इस शक्तिशाली फूड में सल्फर से भरपूर एमिनो एसिड होता है, जिसका नाम एलिन होता है. इसके अलावा लहसुन में एक प्रोटीन बेस्ड एंजाइम पाया जाता है, जिसे एलिनास कहते हैं. जब हम लहसुन को छीलते और काटते हैं तो आप एक और तत्व को इसमें मिला देते गैं, जिसे एलिसिन कहते हैं. एलिसिन एक बहुत ही शक्तिशाली एंटी-बायोटिक है, जिसके साथ ही इसमें एंटी-फंगल और एंटी-वायरल गुण भी होते हैं. लहसुन सर्दी और फ्लू के लिए सबसे अच्छा होता है. दुर्भाग्यवश लहसुन को पकाने से उसमें से एलिसिन निकल जाता है और अन्य तत्व भी कम प्रभावी हो जाते हैं. किसी भी डिश को तैयार करने के बाद उसमें घिस, काट या फिर पीस कर लहसुन का इस्तेमाल करें. इससे आपको अधिक पोषण तो मिलेगा ही साथ ही स्वाद भी दोगुना हो जाएगा.


लाल शिमला मिर्च


कच्ची लाल मिर्च में विटामिन सी, बी6, ई और मैग्निशियम की उच्च मात्रा पाई जाती है. लेकिन लाल मिर्च को पकाने से उसमें विटामिन सी कम हो जाता है. अगर आपको इसे पकाकर ही खाना है तो आपके लिए इन्हें भुनना अधिक सेहतमंद विकल्प साबित हो सकता है. ये विटामिन को सहेज कर रखने में मदद करता है. इसलिए इसे आप सलाद के साथ कच्चा खा सकते हैं.


कच्चा नारियल


नारियल की बर्फी या चटनी तो आपको पसंद होगी ही लेकिन क्या आप जानते हैं कि इसे कच्चे खाने से आपको सबसे ज्यादा पोषण मिलता है. नारियल पानी का सेवन आपको हाइड्रेटेड रखता है क्योंकि इसमें इलैक्ट्रोलाइट्स, सोडियम, मैग्नीशियम और पोटेशियम होते हैं. जबकि सूखे नारियल में ये पोषक तत्व कम हो जाते हैं.


कच्चा टमाटर


कच्चे टमाटर आवश्यक विटामिन, मिनिरल्स और पोषण प्रदान करते हैं, जो की कीई स्वास्थ्य लाभ दे सकता है. कच्चे टमाटर खाने से बहुत सी स्वास्थ्य समस्याओं जैसे बोन लास, कैंसर, मधुमेह, किडनी में पथरी, हृदय रोग और मोटापे से बचाव मिलता है.


ब्रोकोली


हरी सब्जियों की सबसे खूबसूरत सब्जी कही जानी वाली ब्रोकोली विटामिन सी, कैल्शियम, पोटेशियम और प्रोटीन से भरी होती है. इसके साथ ही इसमें सल्फोराफेन नाम का कैंसर से लड़ने वाला तत्व भी होता है. इतना ही नहीं ब्रोकोली का सेवन एजिंग से लड़ने में भी मदद करता है. अधिकतर लोग ब्रोकोली को उबाल या फिर हल्की भाप देकर खाना पसंद करते हैं लेकिन कैंसर और एजिंग को कम करने वाले तत्व सल्फोरोफेन का अवशोषण तब अधिक होता है जब इसे पकाने के बजाए कच्चा खाया जाता है.


नट्स


नट्स को कच्चे खाने से इनका पूरा पोषण आपको मिलता है. आपको घी या तेल में भुने हुए रोस्टेड नट्स बेशक पसंद होंगे लेकिन बेहतर है कि आप इनका सेवन कच्चे ही करें. पकाने या रोस्ट करने पर नट्स का पोषण कम हो जाता है इसलिए अपने स्नैक्स को हेल्दी ही रहने दें.


चुकंदर


चुकंदर को विटामिन्स का पावरहाउस कहा जाता है. चुकंदर में विटामिन सी, पोटेशियम, मैंग्निज, विटामिन बी और फोलेट होता है. यह सब्जी आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर बनाने का काम करती है, आपकी ऊर्जा को बढ़ाती है और सूजन व जलन से लड़ने में मदद करती है. चुकंदर का प्रयोग ज्यादा स्मूदी में किया जाता है और यह वर्कआउट के बाद पीएं जाने वाले शेक में सबसे बेहतर होता है क्योंकि ये रिकवरी में मदद करता है. इसके पकाने से इसमें फोलेट और बी विटामिन की मात्रा 25 फीसदी तक कम हो जाती है. इसे आप छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर सलाद के रूप में खा सकते हैं. इसका गाढ़ा रंग आपको अपनी ओर आकर्षित करता है और आपके शरीर में जरूरी विटामिन की आपूर्ति करता है.


जैतून का तेल


कई लोग भोजन पकाने के लिए जैतून के तेल का इस्तेमाल करते हैं, स्वस्थ वज़न बनाए रखने के लिए. हालांकि, आपको यह जानकर आश्चर्य होगा की जैतून के तेल का बिना पकाएं यानी कच्चा इस्तेमाल करना ही बेहतर होता हैं क्योंकि यह विटामिन ई और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है, जो की पकाने के दौरान अधिक गर्म होने से नष्ट हो जाता है.


बेरी


रास्पबेरी, ब्लूबेरी और ब्लैकबेरी जैसी बेरी एंटी-ऑक्सीडेंट का एक समृद्ध स्त्रोत होती हैं. इसके साथ ही बेरी में रिजर्वाट्रोल भी होता है और इससे कई स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं. इन्हें सूखाकर या फिर पकाकर खाने से इनके सभी पोषक गुण खराब हो सकते हैं. दरअसल जब आप इन्हें सूखाने की प्रक्रिया करते हैं तो इनका शुगर कंटेंट कच्चे या फिर प्राकृतिक रूप के मुकाबले तीन गुना तक ज्यादा बढ़ जाता है. इसके अलावा इनमें कार्ब और कैलोरी तत्व भी बढ़ जाता है. इसलिए इस शक्तिशाली फ्रूट को कच्चा खाना बेहद फायदेमंद होता है. इसके अलावा आप इन्हें स्मूदी में भी मिलाकर खा सकते हैं.


कच्चे फूड खाने के फायदे


रॉ फूड यानी कच्‍चे फल और सब्जियों को पकाने में शरीर को आधी से भी कम एनर्जी खर्च करनी पड़ती है. जिससे हम फ्रेश फील करते हैं. जबकि भोजन जितना ज्‍यादा पका हुआ होगा उसे पचाने में उतनी ही अधिक मेहनत करनी होगी. जिससे हमें खाना खाने के एक-डेढ़ घंटे बाद तक सुस्‍ती अनुभव होती है. देर रात खाया गया भारी खाना सुबह जागने की प्रक्रिया को भी बाधित करता है और हम थकान का अनुभव करते हैं.
Reactions

Post a comment

0 Comments